डीएम (DM) क्या है? DM कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में

डीएम क्या है (What is DM in Hindi) डीएम (DM) कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में. (How To Become a DM Officer in Hindi)ऑफिसर क्लास में सबसे पॉवर फूल पोस्ट डीएम है और आज के इस पोस्ट में मैं आपसे यह जानकारी शेयर करने वाला हूं. DM बनने की योगयता क्या होना चाहिए (Eligibility For DM) और डीएम की सैलरी कितनी होती है (DM Salary) इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के बाद आपको डीएम से जुडी सभी जानकारी मिल जायेगी जो आपके अंदर DM Preparation का हौसला पैदा करेगा. वैसे तो बचपन से बहुत से लोग एक साथ एक ही कक्षा में पढाई करते हैं. लेकिन, उसमें से कुछ ही लोग सफल हो पाते हैं. सफलता पाने के लिए लगातार एक ही दिशा में जीतोर मेहनत करना होता है.

dm kaise bane

प्राइवेट नौकरी हो न हो इसका कोई मतलब नहीं रह गया है. ऐसे में लोग एक सुरक्षित नौकरी या बिजनेस कि तालाश में लगे हुए हैं. ऐसे में प्रशाशनिक सेवा कि नौकरी का कोई तोर नहीं है. आप सब ने तो DM  के बारे में सुना ही होगा। DM का रुतबा और का नौकरी आनंद और काम जो इस प्रोफाइल में मिलता है वह किसी और में नहीं है. अधिकतर युवाओं का सपना होता है कि वह प्रशासनिक सेवा में बहुत अच्छे पोस्ट पर नौकरी करें। डीएम प्रशासनिक सेवा में सबसे बेहतर पोस्ट है. सरकारी मुलाजिम जी हां यह एक ऐसा शब्द है जो नौकरी कि स्थिरता को दिखता है. नौकरी में स्थिरता चाहिए तो आज की दौर में सरकारी नौकरी से बेहतर कुछ भी नहीं है. यह पोस्ट लिखने का मकसद साफ़ है आप सभी से यह जानकारी शेयर करना है DM kaise bane, DM ki salary kitni hoti hai, DM पद का वजन कितना होता है.

डीएम (DM) क्या होता है?

जिला के मुखिया को डीएम कहते हैं. जैसे ग्राम पंचायत का एक मुखिया होता है. वैसे ही पूरे जिले का एक मुखिया होता है फर्क सिर्फ इतना है की गांव का मुखिया चुना जाता है जिसके लिए हर पांच साल में चुनाव होता है. यहां न ही हर पांच साल में कोई चुनाव लड़ना होता है न ही हर पांच साल में कोई परीक्षा देना होता है. एक बार आपका चयन हो गया आप जीवन भर के लिए इस पद को शोभायमान करेंगें.

शिक्षा ऋण Education Loan Kya Hai Education Loan Kaise Milega

एक तो सरकारी नौकरी उसमें भी प्रशाशनिक सेवा में सबसे से ऊँचा पद यह सोने पर सुहागा जैसा है. डीएम के पास जिले का प्रशासनिक कार्यों की जिम्मेदारी होती है. डीएम यह सुनिश्चित करता है जिले का सभी प्नारशाशनिक कार्य सुचारू रूप से चल रहा है या नहीं बेहतर के लिए क्या योजना बनाना चाहिए और उस योजना का पालन कैसे होगा?

  • डीएम जिले का मुख्य कार्यकारी प्रशासनिक और राजस्व अधिकारी होता है.
  • डीएम को अपने जिले में कानून व्यवस्था को बनाए रखना तथा जिला एसपी से मिलकर जिले में अपराध के मामलों को कम करना है.
  • डीएम जिला के अंदर सभी व्यवस्था के लिए जिम्मेदार है इसके लिए समय समय पर शिक्षण संस्थान, पुलिस थाना तथा जेलों के साथ अन्य सभी विभागों का निरंतर निरीक्षण करने का काम करता है. जिससे वहां के समस्याओं को हल कर सके और यह भी सुनिश्चित करें वहां सभी कार्य दिये गए निर्देशों के अनुसार चल रहा है.
  • डीएम महीने में कुछ दिन जिला कोर्ट में भी अपना समय देता है जिससे अपराधिक मामलो की सुनवाई कर सके.
  • डीएम सरकार को अपने जिले के वार्षिक अपराध का प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हैं.
  • जिले में हो रहे सभी मामलों को मंडलायुक्त को बताना ताकि मंडल आयुक्त जिले के सारे मामले से अवगत हो सकें.

अगर किसी जिले में मंडलायुक्त नहीं है तो उस जिले के विकास के कार्य का निरीक्षण और विकास  प्राधिकरण के अध्यक्ष के तौर पर डीएम को ही चुना जाता है.

डीएम (DM) का फूल फॉर्म DM Full Form

DM का full form डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट (District Magistrate) होता है. Magistrate शब्द तो आपने जरूर सुना होगा. जी हां आप बिलकुल सही समझ रहे हो जब परीक्षा केंद्र पर Magistrate Checking होता है तो सभी में खलबली मच जाती है. Magistrate Checking होने वाला है जब एक Magistrate Checking इतना तूफ़ान पैदा कर सकता है तो यहां बात District Magistrate की कर रहे हैं. हिंदी में इसे जिला दंडाधिकारी कहते हैं.

समय का सदुपयोग कैसे करें ? Importance Of Time

डीएम(DM) कैसे बने?

आगे आपकोविस्तार से बतायेंगें DM Kaise Bane इसकी तैयारी कैसे और कहां से करें? फ़िलहाल इतना जान लीजिए DM बनने के लिए सब कुछ भूल कर जीतोर मेहनत करना होगा. कहते हैं न कुछ किये बिना ही जय जयकार नहीं होता यहां मैं एक कविता आप सभी को सुनाना चाहता हूं.

लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती

नन्हीं चींटी जब दाना लेकर चलती है
चढ़ती दीवारों पर, सौ बार फिसलती है
मन का विश्वास रगों में साहस भरता है
चढ़कर गिरना, गिरकर चढ़ना न अखरता है
आख़िर उसकी मेहनत बेकार नहीं होती
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती

डुबकियां सिंधु में गोताखोर लगाता है
जा जाकर खाली हाथ लौटकर आता है
मिलते नहीं सहज ही मोती गहरे पानी में
बढ़ता दुगना उत्साह इसी हैरानी में
मुट्ठी उसकी खाली हर बार नहीं होती
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती

असफलता एक चुनौती है, स्वीकार करो
क्या कमी रह गई, देखो और सुधार करो
जब तक न सफल हो, नींद चैन को त्यागो तुम
संघर्ष का मैदान छोड़ मत भागो तुम
कुछ किये बिना ही जय जयकार नहीं होती
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती

कई लोग इस रचना को हरिवंशराय बच्चन जी द्वारा रचित मानते हैं। लेकिन श्री अमिताभ बच्चन ने अपनी एक फ़ेसबुक पोस्ट में स्पष्ट किया है कि यह रचना सोहनलाल द्विवेदी जी की है।

DM बनने के लिए उम्मीदवार को यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के तहत होने वाली UPSC एग्जाम को पास करना होता हैं। यदि आप इस एग्जाम को पास करते है तो फिर आप IAS अधिकारी बन जाते है। IAS अधिकारी के कुछ समय बाद आपको पदोन्नति दे कर के डीएम बनाया जाता हैं.

Rajiv Gandhi Khel Ratna Award Winners List in Hindi

लेकिन IAS का एग्जाम इतना भी आसान नहीं है UPSC Qualify करना जितना हम समझते हैं, उतना आसान नहीं है. मैं पहले ही बता चुका हूं, इस परीक्षा कि तैयारी में लोग अपना सर्वस्व समर्पित कर देते हैं. कहते हैं

मन समर्पित, तन समर्पित
और यह जीवन समर्पित
चाहता हूँ देश की धरती तुझे कुछ और भी दूं

माँ तुम्हारा ॠण बहुत है, मैं अकिंचन
किन्तु इतना कर रहा फिर भी निवेदन
थाल में लाऊँ सजा कर भाल जब भी
कर दया स्वीकार लेना वह समर्पण

गान अर्पित, प्राण अर्पित
रक्त का कण कण समर्पित
चाहता हूँ देश की धरती तुझे कुछ और भी दूं

मांज दो तलवार, लाओ न देरी
बाँध दो कस कर क़मर पर ढाल मेरी
भाल पर मल दो चरण की धूल थोड़ी
शीश पर आशीष की छाया घनेरी

स्वप्न अर्पित, प्रश्न अर्पित
आयु का क्षण क्षण समर्पित
चाहता हूँ देश की धरती तुझे कुछ और भी दूं

तोड़ता हूँ मोह का बन्धन, क्षमा दो
गांव मेरे, द्वार, घर, आंगन क्षमा दो
आज सीधे हाथ में तलवार दे दो
और बायें हाथ में ध्वज को थमा दो

यह सुमन लो, यह चमन लो
नीड़ का त्रण त्रण समर्पित
चाहता हूँ देश की धरती तुझे कुछ और भी दूं

ऊपर जो कविता है उसे एक अलग भावार्थ के साथ समझना होगा. मन समर्पित, तन समर्पित, चाहता हूं, UPSC में टॉप रैंक के साथ DM बनकर यह जीवन समर्पित. इस एग्जाम को Qualify करने के लिए आपको दिन-रात मेहनत करनी होती है. उसके बाद ही आप इस एग्जाम को Qualify कर पाओगे.

Interview Question List जिसे जरूर Prepare कर लें.

डीएम एक ऐसा पद है जिसके लिए कोई डायरेक्ट भर्ती नहीं होती है. इसके लिए परीक्षा के एक ऐसे जाल से गुजरना होता है जहां आप हर दिन परीक्षा देते हो. आपका दिनचर्या तय करता है आप कितनी बार में UPSC Exam Qualify कर लेंगें? डीएम बनने के लिए UPSC में बहुत अच्छा स्कोर करना होता है. यह Top IAS Job है. UPSC Exam में जो उम्मीदवार रैंक 1 से 100 तक आते हैं उन्हें ही आईएस का पद मिलता है। इसीलिए अगर आप डीएम बनना चाहते हैं तो आप सबसे पहले यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) की तैयारी करें और आईएएस बने। जब आप इस परीक्षा को पास करते हैं तब आपको Under Secretary या ADC  का पद प्राप्त होता है और इस पद में कुछ साल काम करने के बाद आपको डीएम का पद मिलता है.

Interesting Facts About UPSC

संघ लोग सेवा आयोग मतलब UPSC की एक बहुत ही Interesting Fact के बारें में बताना चाहता हूँ, हर साल संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) IAS, IPS और IFS का एग्जाम लेती है, और इस एग्जाम में हर साल सात लाख (7 Lakh) से भी ज्यादा उम्मीदवार इस एग्जाम में हिस्सा लेते हैं. लेकिन, सात लाख (7 लाख) से भी ज्यादा उम्मीदवारों में से केवल 700 से 900 का ही चयन हो पाता है. इससे आपको समझ आ गया होगा UPSC EXAM Qualify कितना मुश्किल और आसान है. अब एक डाटा और आपके सामने रखता हूं, इस परीक्षा में, Pre, Mains और interview के आधार पर चयन होता है. सभी परीक्षा का नंबर एक साथ जोड़कर रिजल्ट तैयार किया जाता है. ऐसे में बहुत कम मतलब 700 से 900 उम्मीदवार ही इतना अंक स्कोर कर पाते हैं जिससे चयन हो जाये. यदि आपने अपना सर्वस्व समर्पित कर दिया तो आपका चयन सुनिश्चित है.

डीएम ऑफिसर बनने की योगयता (Eligibility For DM)

अब तक आप जान चुके हो डीएम किसी भी जिले के प्रशासनिक सेवा में सबसे बड़ा पोस्ट होता है और इस पोस्ट में नौकरी पाने के लिए सरकार ने कुछ योग्यताओं का मापदंड तैयार किया है जो भी उम्मीदवार इन मापदंडों को पूरा करता है उन्हें ही डीएम बनने का मौका मिलता है. आज के इस भीड़ भरी दुनिया में हर तरफ प्रतिस्पर्धा का माहौल है. यहां तो चपरासी कि नौकरी या प्राइवेट कंपनी में डाटा एंट्री ओपेरटर की नौकरी के लिए भी कुछ योग्यताओं का मापदंड तैयार किया जाता है.

Educational Qualification of District Magistrate

योग्यता – डीएम बनने के लिए आपको अपनी ग्रेजुएशन (Graduation) की degree किसी भी university से पूरी करनी होगी.

राष्ट्रीयता – आपकी राष्ट्रीयता भारत की ही होनी चाहिए.

किसी भी Exam की तैयारी कैसे करें?

Educational Qualification का मतलब शैक्षणिक योग्यता से है. यकीन मानिये किसी प्राइवेट नौकरी के लिए जो शैक्षणिक योग्यता योग्यता तय किया जाता है उससे बहुत कम शैक्षणिक योग्यता कि जरूरत है. कुछ दिन पहले एक मीडिया एडवाईजर पद के लिए बहाली आया था जिसका शैक्षणिक योग्यता PG (Post Graduate) वो भी Mass Com और MBA जैसा मांगा गया था. इतना ही नहीं साथ में 5 साल का अनुभव और बहुत कुछ था. इससे तुलना किया जाये तो UPSC मतलब डीएम बनने के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता सिर्फ किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से किसी भी विषय से ग्रेजुएशन होना चाहिए.

उम्र सिमा (Age Limit for District Magistrate)

सामान्य वर्ग के छात्रों के लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष तय की गई है तथा अधिकतम आयु सीमा 32 वर्ष तय की गई है. सरकार ने आरक्षित वर्ग जैसे कि OBC, SC, ST के लिए इन आयु सीमा में कुछ छूट दी है.

Top 10 Benefits of Government Job सरकारी नौकरी के फायदें !

  • OBC वर्ग के विद्यार्थियों के लिए आयु सीमा में 3 वर्ष की छूट मिलती है और ओबीसी वर्ग के छात्र 35 वर्ष की उम्र तक यह परीक्षा दे सकता है.
  • SC/ST वर्ग के विद्यार्थियों के लिए आयु सीमा में 5 वर्ष का छूट दिया गया है मतलब ये छात्र 37 वर्ष की उम्र तक यह परीक्षा दे सकता है.

डीएम बनने के लिए छात्र कितनी बार परीक्षा को दे सकता है

Educational Qualification जरूर बहुत कम है साथ ही किसी भी तरह का अनुभव होना जरूरी नहीं है लेकिन, कुछ कठोर प्रावधान यहां भी तय किया गया है जिससे सभी लोगों को मौका मिल सके.

5 आसान तरीका जिससे 30 दिन में अंग्रेजी बोलना सीखें

  • सामान्य वर्ग  के उम्मीदवार 6 बार अपना मेहनत और किस्मत अजमा सकता है.
  • इसी तरह ओबीसी वर्ग का उम्मीदवार 9 बार इस परीक्षा में शामिल हो सकता है.
  • ST/SC यानी की अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति का उम्मीदवार अपने आयु सीमा तक अपना मेहनत और किस्मत अजमा सकता है.
  • विकलांग उम्मीदवार के लिए भी परीक्षा देने की कोई लिमिट नहीं है.

DM Exam Pattern डीएम बनने के लिए परीक्षा UPSC Exam Process

जब तक जीवन है परीक्षा साथ लगा रहता है. जीवन के हर कदम पर आपको परीक्षा देना है यह आपको तय करना होगा परीक्षा किस कार्य के लिए और कितनी बार डीएनए है. DM बनने के लिए आपको यूपीएससी (UPSC) परीक्षा देना होता है. यूपीएससी परीक्षा तीन चरण में होती है. पहले दो चरण में लिखित और आखिरी चरण में आपका साक्षात्कार (Interview) लिया जाता है.

dm deepak rawat

DM Exam Pattern Step 1

UPSC Exam का पहला चरण प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam) होता है. यहां 2 QUESTION PAPER होता है. पहले प्रश्न पत्र में एक नंबर का प्रश्न पूछा जाता है जबकि दूसरे प्रश्न पत्र में 2.5 नंबर का प्रश्न पूछा जाता है. इसमें आपको हर एक प्रश्न पत्र के लिए दो-दो घंटे का समय मिलता है. इस प्रश्न पत्र में आपसे सिर्फ ऑब्जेक्टिव  प्रश्न सही समझे हर सवाल का चार उत्तर होता है जिसमें से एक चुनना होता है. इस परीक्षा में Negative Marking होती है और यही वजह है Preliminary Exam में भी बहुत कम उम्मीदवार उत्तीर्ण हो पाते हैं.

DM Exam Pattern Step 2

Preliminary Exam के बाद दूसरे चरण का परीक्षा होता है. इसे मुख्य परीक्षा कहते हैं, इसमें 9 प्रश्न पत्र पूछे जाते हैं. इसमें हर एक प्रश्न पत्र के लिए 3 घंटे का समय मिलता है. इसमें निबंध से संबंधित प्रश्न पूछा जाता है. इस परीक्षा में करंट अफेयर से भी कई प्रश्न पूछा जाता है. मैं कई ऐसे लोगों को जनता हूं, जो Mains Exam Clear कर चुके हैं. यहां समय को ध्यान में रखते हुए आपने शब्दों में बहुत सटीक जवाब देना होता है. यहां हर प्रश्न पत्र से 250 अंक का प्रश्न पूछा जाता है.

DM Exam Pattern Step 3

PT और Mains की परीक्षा के बाद चयनित उम्मीदवार कि डील कि धडकन बहुत तेज हो जाता है. क्यूंकि अब शुरू होता है साक्षात्कार का समय और UPSC Interview से सबकी फटती है. कहने का मतलब एक डर सा लगा रहता है. लेकिन, यहां खुद को एक उम्मीद देना होता है सब अच्छा होता है और होगा. इस साक्षात्कार से डरना स्वाभाविक है लेकिन, उम्मीदवार डर से ज्यादा घबराने लगते हैं और सब गलत हो जाता है.

एजुकेशन लोन क्या होता है, एजुकेशन लोन के लिए अप्लाई कैसे करें?

अगले पोस्ट में बहुत ही डिटेल में UPSC EXAM PATTERN और इसके तैयारी के बारें में बताया गया है. इसीलिए घबराने की जरूरत नहीं है. हम आप में ही लोग UPSC Qualify करते हैं और IAS, IPS, IFS, IRS बनते हैं. जो लोग जीत हासिल करते हैं वो कुछ अलग नहीं करते हैं, बल्कि हर काम को अगल तरीके से करते हैं. इसीलिए धैर्य रखिये सब अच्छा होगा.

डीएम की सैलरी (DM Salary)

दुनिया बहुत आधुनिक हो गया है इस आधुनिक दुनिया में अर्थ के बिना कुछ संभव नहीं है. कहने का मतलब आप अच्छी तरह से समझ गए होंगें. आधुनिक दुनिया के आर्थिक तौर पर मजबूत होना बहुत जरूरी है. आर्थिक तौर पर मजबूत होने का मतलब DM Ki Salary कितनी होती है. वैसे तो यह कहना गलत नहीं होगा DM बके लिए सैलेरी कोई मायने नहीं रखता है फिर आपको बताना जरूरी है DM कि सैलेरी 78,800 रूपए है. जहां तक मैं समझता हूँ, डीएम (DM) के लिए लाख रूपया कोई मायने नहीं रखता है. मेरे कहने का मतलब आप सही समझ रहे हो. अब ज्यादा खुल कर बात करना सही नहीं है. इसके अलावे डीएम साहब को कई अन्य सरकारी सुविधा के साथ एक रुतबा मिलता है.

  • रहने के लिए सरकारी आवास और आवास में एक चपरासी और रसोईया की सुविधा मिलती है
  • फ्री बिजली तथा फ्री टेलीफोन की सुविधा
  • सरकारी वाहन
  • सरकारी काम के लिए अगर आप कहीं बाहर जाते हैं तो सरकार आपके पूरी यात्रा की खर्चा सरकार देती है.

डीएम (DM) बनने के लिए कुछ जरूरी बातें 

जिस किसी भी Stream से आप अपनी Graduation complete करोगे, उसी Graduation Stream के साथ आप UPSC कि तैयारी शुरू करनी है. एक सबसे जरूरी बात Graduation के समय से ही UPSC कि तैयारी शुरू कर देना चाहिए. IAS कि तैयारी के लिए General Knowledge के साथ Current Affairs पर ध्यान देना बहुत जरूरी है. क्यूंकि, पहला परीक्षा जिसे Prelimnery Exam कहते हैं इसमें ज्यादातर प्रश्न इसी विषय से आता है. Graduation के समय से ही तैयारी करने से पहला परीक्षा देना बहुत आसान हो जायेगा. General knowledge, Current Affairs के अलावे Indian History पर ध्केयान देना बहुत जरूरी है. इन सब के लिए आपको News Paper पढ़ना चाहिए लगभग काचिंग संस्थान The Hindu पढ़ने का सलाह देते हैं. कुछ लोगों का कहना है The Hindu IAS News Paper है.

DM Works

  • डी एम का कार्य कानून व्यवस्था को बनाये रखना है.
  • वार्षिक अपराध की सरकार को Report देना.
  • पुलिस और जेलों का निरीक्षण करता है.
  • सभी कार्यों की मंडल आयुक्त को जानकारी देना.
  • जब मंडल आयुक्त उपस्थित नहीं होते है, तो जिला विकास प्राधिकरण के पद पर अध्यक्ष के रूप में कार्य करते है.
  • साथ में कार्य करने वाले मजिस्ट्रेटों का निरीक्षण करना.

DM Training

बहुत से लोगो को ये सवाल होता हैं की डीएम का Training कैसे होता है इसके लिए हमने Quora जो की सवाल पूछने की सबसे पॉपुलर वेबसाइट है उसका हिंदी अनुवाद किया है, ट्रेनिंग 4 फेज में होता है Quora यूजर एंड आईएएस अफसर आदित्य तुली इसके बारे में जानकारी दे रहे है.

फाउंडेशन कोर्स – यह 3 महीने का समय होता है इस पीरियड में आईपीएस एंड आईएफएस ऑफिसर्स के साथ 3 Month तक लबसना (लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकादमी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेशन) में गुजरना होता है यहाँ आपको Laws से लेकर एडमिनिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी दी जाती है फाउंडेशन कोर्स में स्पोर्ट्स कल्चरल एक्टिविटी भी होती है.

भारत दर्शन – फाउंडेशन कोर्स पूरा होने के बाद भारत दर्शन होता है जिसमे कई राज्य घूमने का मौका मिलता है इस पीरियड में कई मिनिस्ट्रीस ग्रुप्स से मिलने का मौका मिलता है. भारत दर्शन कम्पलीट होने के बाद वो फिर से लबसना में आते है यहाँ पर उनको जॉब्स से जुडी जानकारी दी जाती है इस पीरियड में हॉर्स राइडिंग कुकिंग क्रिकेट फुटबॉल जैसे प्रोग्राम भी होते है.

Induction – जब सब कम्पलीट हो जाता है तो टाइम आता है जोइनिंग का इस पीरियड में राष्ट्रपति भवन का भी टूर होता है एंड फिर माननीय राष्ट्रपति जी सबको जोइनिंग लेटर देते है. लो जी बन गए डीएम Cheers.

DM कैसे बने FAQ

मैं एक सामान्य विद्यार्थी हूँ, जो पढ़ने में ज्यादा तेज़ भी नहीं है. क्या में डीएम बन सकता हूँ ?

बिलकुल, आप इस परीक्षा के लिए ही बने हैं, क्यूंकि, इस संसार में ऐसा कुछ भी नहीं है जो मनुष्य नहीं कर सकता, निश्चित तौर पर अगर आप उपयुक्त मेहनत करते हैं, तो भावी डीएम बनने से आपको कोई नहीं रोक सकता. हमारी तरह से आपको शुभकामनाएं.

क्या बिना कोचिंग के डीएम बना जा सकता है ?

मैं पहले ही बता चुका हूं, ऐसा कुछ नहीं है जिसे मनुष्य नहीं कर सकता है. यदि मुझ से पूछोगे तो मैं बड़ा वाला हाँ, कहूँगा आप भावी डीएम हो. कई ऐसे छात्र हैं, जो बिना कोचिंग के ही डीएम बनते है, वैसे आज के एस ऑनलइन युग में किसे कोचिंग की जरुरत है, लोग इंटरनेट से ही कई जानकारी ले लेते है, किताबे तक डाउनलोड कर लेते है, टेस्ट भी दे देते है, और यहीं पर वो जान लेते हैं की क्या उनके पास एक डीएम बनने का क्षमता है.

डीएम बनने के लिए इंग्लिश अच्छी होनी चाहिए ?

अंग्रेजी एक भाषा मात्र है. जिस तरह आप हिंदी बोलना सीख सकते हैं वैसे ही 5 आसान तरीका से अंग्रेजी बोलना भी बहुत आसानी से सीख सकते हैं. वैसे अंग्रेजी कि जरूरत से ज्यादा आपको आपने विषय पर पकड़ होनी चाहिए सभी परीक्षा हिंदी माध्यम में दे सकते हो जबकि बेसिक अंग्रेजी का ज्ञान होना बहुत जरूरी है.

क्या ये वेबसाइट आईएएस या डीएम की तैयारी सम्बंधित आर्टिकल भी लिखती है ?

इस वेबसाइट पर आपको हर तरह का ज्ञान मिल जायेगा इसका नाम ही Guruji Tips है. यहां हर तरह कि जानकारी दी जाती है.

डीएम बनने के लिए कितना घंटा पढ़ना चाहिए ?

यह सवाल पूछना मतलब आप अपना समय बर्बाद कर रहे हैं, यह उम्मीदवार पर निर्भर करता है वह कितने समय में क्या कर सकता है. कितना देर पढ़ना होगा इससे ज्यादा जरूरी सवाल है समय का सही सदुपयोग कैसे करे? यदि Smart Study करते हो तो बहुत आसानी से पहले चरण में UPSC EXAM QUALIFY कर सकते हो.

Conclusion

आज की पोस्ट में हमने आपको DM Kaise Bane के बारे में बताया और आपको इस पोस्ट के द्वारा DM Kya Hota Hai की जानकारी भी मिली उम्मीद है आपको yah जानकारी आपने तैयारी के सफर को आगे बढ़ाने में बहुत मदद करेगा.
DM Kaise Bane In Hindi की जानकारी आपको कैसी लगी हमें ज़रुर बताये। District Magistrate Kaise Bane में आपको इसका Exam Pattern भी बताया गया. हम आशा करते है की आपने डी एम परीक्षा पैटर्न को अच्छी तरह से समझ लिया होगा. District Magistrate In Hindi में आपको बहुत कुछ सीखने को मिला. इस पोस्ट में आपको DM Ka Full Form Kya Hai यह भी बताया जा चुका है साथ ही इस जानकारी को अपने Friends के साथ भी साझा करें इसके लिए इसे Social Media और WhatsApp पर  DM Kaise Bane In Hindi को जरूर शेयर कीजिये.

You May Also Read

गल्फ में नौकरी कैसे मिलेगा Jobs in Gulf Countries

बी ए के बाद क्या करें BA Ke Baad Kya Kare

स्मार्ट स्टडी क्या होता है स्मार्ट स्टडी कैसे करें

समय क्या है, समय किसे कहते हैं, What is Time in Hindi

पुलिस सब इंसपेक्टर कैसे बने? How To Become Police Sub Inspector

अगर आप हमारी Website के Latest Update पाना चाहते है, तो आपको अपनी Website Guruji Tips पर बने रहे यहां हम लगातार नई नई जानकारी शेयर करते रहते हैं. Best of Luck for your UPSC Exam from Guruji Tips Team and Ashutosh Choudhary.

यदि यह जानकारी आपको अच्छी लगी तो Spread the love Please Share...
Guruji Tips

Guruji Tips is a website to provide tips related to Blogging, SEO, Social Media, Business Idea, Marketing Tips, Make Money Online, Education, Interesting Facts, Top 10, Life Hacks, Marketing, Review, Health, Insurance, Loan and Internet-related Tips. यदि आप भी अपना Content इस Blog के माध्यम से publish करना चाहते हो तो कर सकते हो. इसके लिए Join Guruji Tips Page Open करें. आप अपना Experience हमारे साथ Share कर सकते हो. धन्यवाद !

1 thought on “डीएम (DM) क्या है? DM कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *