होम लोन इंश्योरेंस क्या है What is Home Loan Insurance

इंसान अपनी पूरी जिंदगी “रोटी, कपड़ा और मकान” पाने की जद्दोजहद में निकाल देता है. रोटी और कपड़ा, यूं तो आसानी से हर किसी को मिल जाता है, पर मकान के मामले में ऐसा कहना थोड़ा मुश्किल है. एक ऐसा वक़्त था जब चारो ओर बस बियाबान हुआ करता था, लोग कहीं भी जाकर बस जाते थे, फिर समय के साथ जनसंख्या बढ़ती गई और इंसान का प्रसार होता गया. विज्ञान का कुछ अविष्कार पैदावार बढ़ा दिया जिस खेत में पहले पांच (5) टन अनाज पैदा होता था आज उसी खेत में पचास (50) टन अनाज पैदा होने लगा लेकिन पृथ्वी का क्षेत्रफल नहीं बढ़ा आज भी उतना है है. बदलते वक़्त और बढ़ती आबादी के साथ रहने के लिए मकान मिलना काफी मुश्किल हो गया है और अब तो हालात यूं है साहब कि आम इंसान के लिए मकान खरीदना एक सपने जैसा हो गया है. मैंने कई लोगों को देखा है जो अपनी पूरी जिंदगी एक मकान की कीमत जुटाने में ही गुजार दी. पर अब के समय में कई तरह के होमलोन मार्केट में आपको मिल जायेंगे. इन होमलोन की मदद से कोई भी व्यक्ति आसान किश्तों में अपना मकान ले सकता है. इनकी स्कीम काफी हद तक आसान होती है. ये मकान की कीमत पर ब्याज दर लगाकर एक निश्चित समय अवधि के हिसाब से किश्ते बना देते हैं. जिसे आपको हर महीने लौटना होता है.

यह भी पढ़ें : होम लोन ब्याज दर क्या है Home Loan Interest Rate

होम लोन की समय सीमा बहुत ज्यादा होती है, कई बार तो यह 20 से 30 साल तक होती है. बीस साल एक बहुत बड़ी समय सीमा है, सोचिए अगर इन बीस सालों में लोन लेने वाले व्यक्ति को कुछ हो जाता है, यदि किसी कारणवश उसकी मृत्यु हो जाती है. तो ऐसे हालातों में बैंक जिससे कि होमलोन लिया गया है उनके नियम बड़े सख्त हैं. कुछ बैंको के नियम के अनुसार ली हुई माकन को तुरंत ही गिरवी रख लिया जाता है, और कुल रकम एकबार में चुकता न करने पर माकन की नीलामी भी कर दी जाती है.कुछ बैंको के नियम अनुसार किश्तों को बढ़ा दिया जाता है.

home loan insurance

परिवार का मुखिया जो एक मात्र कमाने वाला व्यक्ति है. और अब वो नहीं रहा तो परिवार के लिए दो वक़्त का खाना ही कठिन हो जाता है. मकान की किस्तें चुकाना तो दूर की बात है। ऐसी नौबत आने पर परिवार को अपने घर से वंचित होना पड़ सकता है.ऐसे हालातों के लिए होम लोन इंश्योरेंस (Home Loan Insurance) लेना काफी ज्यादा सहायक माना गया है. लोगों में ये गलत धारणा है कि होमलोन एक जटिल प्रक्रिया है और ऐसे में होमलोन इंश्योरेंस इस प्रक्रिया को और जटिल बना देता है. पर होमलोन इंश्योरेंस कराना काफी फायदेमंद है, आइए समझते हैं कैसे.

“होम लोन की सुरक्षा के लिए ली जाने वाली बीमा पॉलिसी व्यक्ति को मृत्यु या विकलांगता की वजह से अपना बकाया होम लोन चुकाने में मदद करती है. इसके तहत आपका बकाया होम लोन बीमा कंपनी चुकाती है.” अब जबकि होमलोन, के साथ होमलोन इंश्योरेंस लेना इतना फायदेमंद है तो आखिर सवाल उठता है कि इसे लिया कहाँ से जाए? क्या होमलोन और इंश्योरेंस एक ही बैंक से कराएं, या दोनों अलग अलग. इस पर आपको हर किसी की अलग अलग विचारधारा मिलेगी. कुछ लोग यह तर्क देंगे कि यदि आप दोनों अलग जगह से लेते हो तब एक जगह की खराब गुणवत्ता के कारण आपको, दूसरी जगह भी परेशान में डाल सकती है. एक ही संस्था से इंश्योरेंस और होमलोन लेने के कई फायदे है.

  • यदि आप दोनों काम एक ही संस्था से कराते है तब आपको अलग अलग संस्थाओं के चक्कर नहीं लगाने होंगे. जिस बैंक से आपने होमलोन लिया था, आपकी बाकी की औपचारिकताएं भी वही बैंक पूरी कर देगा. इस तरह ये प्रक्रिया काफी आसान हो जायेगी.
  • बैंक या वित्तीय संस्थान होम लोन देने के साथ आपके प्रीमियम की अदायगी इंश्योरेंस कंपनी को कर देगा. इस तरह आपको अलग से प्रीमियम भरने की जरूरत नहीं होगी.
  • अलग से इंश्योरेंस खरीदने के मुकाबले यह प्रक्रिया ज्यादा आसान है.
  • जरूरत पड़ने पर आपका बैंक आपके परिवार को दावा करने (आवेदन प्रक्रिया पूरी करने तथा आवश्यक कागजात लगाने) में मदद करेगा.
    अब इतना सब जानने के बाद, यह अति आवश्यक है कि होम लोन इंश्योरेंस पेपर पर हस्ताक्षर (Signature) करने से पहले उसकी शर्तों को बारीकी से  पढ़ लें, समझ लें और साथ ही यह भी समझ लें कि क्या फायदे और कितना अपेक्षित नुकसान आपको होमलोन से हो सकता है.
  • दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थितियों के विरुद्ध सुरक्षा, एक साधारण बीमा आपको आग से सुरक्षा प्रदान कर सकता है, परंतु एक जीवन बीमा आपको मृत्यु व विकलांगता के विरुद्ध कवर करता है.
  • प्रीमियम भुगतान में लचीलापन, एकमुश्त एकल प्रीमियम आपके होम लोन की अवधि तक सुरक्षा प्रदान करता है. यह दीर्घकाल में सस्ता पड़ता है दूसरी ओर नियमित प्रीमियम भुगतान के प्लान आपकी जेब पर तो आसान पड़ सकते हैं, परंतु नियत तिथि पर प्रीमियम न भरना महंगा पड़ सकता है.
  • होम लोन से संबद्धता, निर्माणाधीन मकान के लिए लोन का भुगतान चरणबद्ध ढंग से किया जाता है. बीमा कवर कम से कम मंजूर होम लोन के बराबर राशि और अवधि के लिए होना चाहिए ताकि न केवल मकान पूरा बन जाए, बल्कि आपके परिवार को समय पर मिल भी जाए.
  • होम लोन अवधि में सुरक्षा, हो सकता है कि समय से पहले होम लोन अदा करने की उम्मीद में आप कम राशि और अवधि का बीमा कवर लेना चाहें, परंतु याद रखें यदि आपकी पॉलिसी आपके आवास ऋण से पहले खत्म हो गई तो आपको नया होम लोन कवर लेना पड़ सकता है. उस हालत में आपको काफी अधिक प्रीमियम चुकाना पड़ सकता है.

क्या इन परिस्थितियों से जूझने के लिए होमलोन इंश्योरेंस से बेहतर भी कुछ है कुछ एक्सपर्ट ये भी मानते हैं कि यदि होम लोन इंश्योरेंस का प्रीमियम ज्यादा है तो उसकी जगह टर्म प्लान लेना ज्यादा फायदेमंद रहता है. इसे इस उदाहरण से समझा जा सकता है कि मान लीजिए आप 25 लाख रुपये का होम लोन ले रहे हैं. ऐसे में उसके इंश्योरेंस के लिए एकमुश्त मोटी रकम चुकाना होता है. ये राशि तकरीबन 80-90 हजार रुपये होती है. ये राशि लोन ली गई राशि में ही जुड़ी रहती है जिसपर होमलोन के बराबर ही ब्याज वसूला जाता है। यानी अगर आप ये इंश्योरेंस लेते हैं तो आपके होनलोन की ईएमआई तकरीबन 900 रुपये प्रतिमाह तक बढ़ जाती है. कुछ एक्सपर्ट मानते हैं कि अगर ये इंश्योरेंस लेने की बजाय 50 लाख रुपये का टर्मप्लान ले लिया जाए तो वो ज्यादा फायदेमंद है। ऐसा इसलिए क्योंकि जितने रुपये महीने के खर्च में 25 लाख के होम लोन का इंश्योरेंस हुआ है, उतने में 50 लाख रुपये का टर्म प्लान मिल जाएगा. होम लोन के इंश्योरेंस में तो कर्जधारक की मौत होने पर सिर्फ लोन से मुक्ति मिलती है लेकिन अगर 50 लाख का टर्मप्लान ले लिया जाए तो उससे न सिर्फ होम लोन की बची हुई रकम चुकाई जा सकती है बल्कि उसके अलावा भी मोटी रकम कर्जधारक के परिवार के हाथ आ जाती है जो उसके लिए संकट की इस स्थिति में बड़ी मदद साबित होती है. इसके अलावा कई कंपनियां आज टर्म प्लान के साथ होम लोन को कवर करने की सुविधा भी देती है. ऐसे में होम लोन इंश्योरेंस कराने की जरूरत ही खत्म हो जाती है. इसलिए अगर आप भी होम लोन ले रहे हैं तो पहले टर्मप्लान सहित उसके दूसरे विकल्पों के बारे में  भी जानकारी जुटा लें और फिर कोई फैसला करें.

You May Also Read

गल्फ में नौकरी कैसे मिलेगा Jobs in Gulf Countries

Blogging में सफलता प्राप्त करने का मतलब क्या है?

12वीं आर्ट्स के बाद क्या करें Best Career Option after 12th Arts

कॉलेज स्टूडेंट के लिए पार्ट टाइम जॉब Part time job for student

Conclusion Home Loan Insurance

जीवन बीमा, फसल बीमा, शिक्षा बीमा, कन्या शादी बीमा की तरह यह भी एक बीमा है. इसमें लोन रकम का बीमा मिलता है. कर्ज धारक यदि कर्ज लौटा पाने की स्थिति में नहीं है (विकलांग / मृत्यु) तो यह बीमा कंपनी उसका मासिक क़िस्त चुकती है. एक मध्यम परिवार के लिया यह बहुत अच्चा विकल्प है. इस जानकारी से संबंधित अन्य किसी मदद के लिए कमेंट बॉक्स में जरूर कमेंट करें.

People May Also Search : home loan apply online, home loan kaise milega, home loan kya hai, home loan insurance, best home loan insurance plan,

Subscribe for Quick Update

About the Author: Guruji Tips

Guruji Tips is a website to provide tips related to Blogging, SEO, Social Media, Business Idea, Marketing Tips, Make Money Online, Education, Interesting Facts, Top 10, Life Hacks, Marketing, Review, Health, Insurance, Loan and Internet-related Tips. यदि आप भी अपना Content इस Blog के माध्यम से publish करना चाहते हो तो कर सकते हो. इसके लिए Join Guruji Tips Page Open करें. आप अपना Experience हमारे साथ Share कर सकते हो. धन्यवाद !
loading...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *