जीवन बीमा क्या है? What is Life Insurance?

What is Life Insurance in Hindi? जीवन बीमा क्या है? जीवन बीमा का मकसद कम पूँजी बचत कर बेहतर रिटर्न देना है. जीवन बीमा के किसी भी पॉलिसी में हर साल कुछ बचत कर मचुरिटी के समय बहुत अच्छा रिटर्न मिल जाता है. इससे टैक्स लाभ तो मिलता ही है साथ ही जीवन के साथ और जीवन के बाद भी सुविधाएं भी मिलती है.

भारत में जीवन बीमा की शुरुआत सौ साल से भी पहले हुई थी. दुनिया की सबसे बड़ी आबादी वाले देश जैसे भारत में बीमा को उतना महत्व नहीं दिया जाता, जितना दिया जाना चाहिए. इस पोस्ट में एलआईसी के विशेष संदर्भों के ज़रिये पाठकों को जीवन बीमा की कुछ अवधारणाओं से अवगत कराने की कोशिश की जा रही है. यहाँ हम जो कुछ भी बताने जा रहे हैं, वह एलआईसी की किसी पॉलिसी के नियम/ शर्तों या उसके लाभों या विशेषाधिकारों का विस्तृत ब्यौरा नहीं है.

विस्तृत जानकारी के लिए Insurance Category में आगे आने वाले पोस्ट को पढ़ते रहें. इसके अलावे किसी शाखा या मंडल कार्यालय से संपर्क कर कर सकते हैं. LIC से सम्बंधित मदद  किसी LIC Agent (Ashish Kumar 8700282908) से संपर्क कीजिये. LIC Agent आपकी मदद करके बहुत खुश होता है.

life insurance in hindi

जीवन बीमा क्या है?

जीवन बीमा एक ऐसा अनुबंध है, जो उन घटनाओं के घटने पर, जिनके लिए बीमित व्यक्ति का बीमा किया जाता है, एक ख़ास रकम अदा करने का वादा करता है. और इसे LIC इसे पूरा करता है. भारत देश में कई जीवन बीमा कंपनी काम कर रही है. लेकिन, LIC की बात ही कुछ और है. यह अपने ग्राहक का ख्याल हमेशा रखता है. अनुबंध निम्नलिखित अवधि के दौरान बीमित रकम के भुगतान के लिए वैध होता है.

  • भुगतान तिथि, या
  • या नियत अवधि के अंतराल पर .खास-.खास तिथियों पर या?
  • दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु पर बशर्ते कि वह भुगतान अवधि से पहले हो.

LIC जीवन बीमा अनुबंध के तहत पॉलिसी धारक को देय तिथि से पहले या देय तिथि तक निगम को प्रीमियमों का भुगतान करना होता है. एल.आई.सी. जोखिम दूर करता है और अनिश्चितता की जगह निश्चितता लाता है तथा आजीविका कमाने वाले के असामयिक निधन पर परिवार की समय से मदद करता है. इसका क्लैम सेटलमेंट रेसिओ अन्य कंपनियों से बहुत ही अच्छा है. जीवन बीमा मृत्यु की वजह से पैदा होने वाली समस्याओं का सभ्यताजन्य आंशिक समाधान है. संक्षेप में, जीवन बीमा का संबंध हर व्यक्ति के जीवन में आने वाली दो समस्याओं से है.

What is NPA in Hindi एनपीए क्या होता है?

  • समय से पहले व्यक्ति के मर जाने और अपने आश्रितों को उनके हाल पर छोड़ जाने
  • बुढ़ापे तक बिना सहारे के जीने की

जीवन बीमा बनाम बचतें

जीवन बीमा कई तरह का बचत विकल्प देता है. जिसमें से किसी भी प्लान के साथ शुरुआत कर जीवन के बाद आने वाले समस्याओं का समाधान कर सकते हैं.

क्रेडिट कार्ड के बिना ऑनलाइन प्रोडक्ट EMI पर कैसे खरीदें?

बीमा अनुबंध

बीमा अनुबंध चरम सद्भावनापूर्ण अनुबंध होता है, जिसे तकनीकी तौर पर “चरम विश्वास” कहा जाता है. तमाम महत्वपूर्ण तथ्यों का खुलासा करने का सिद्धांत इसी महत्वपूर्ण सिद्धांत पर आधारित है, जो हर तरह के बीमे पर लागू होता है.

पालिसी लेने के समय पालिसी धारक को सुनिश्चित कराना चाहिए कि प्रस्ताव प्रपत्र में पूछे गये तमाम सवालों के सही जवाब दिये जायें. कोई भी गलतबयान, किसी भी चीज का खुलासा न करना या किसी दस्तावेज में धोखाधड़ी करके जोखिम स्वीकार कराना बीमा अनुबंध को अमान्य और निरस्त कर देता है.

सुरक्षा

जीवन बीमा की मदद से दी जाने वाली बचत बचतकर्ता की मृत्यु हो जाने पर जोखिम के खिलाफ सुरक्षा की पूरी गारंटी देता है. इसके अलावे निधन की स्थिति में जीवन बीमा पूरी बीमित रकम का भुगतान आश्र्वस्त कराता है. जबकि दूसरी बचतों में सिर्फ बचत की रकम ब्याज के साथ अदा की जाती है.

समृद्धि बढ़ाने में मदद

जीवन बीमा समृद्धि को प्रोत्साहन देता है. यह दीर्घकालिक बचत का अवसर प्रदान करता है क्योंकि योजना में निहित आसान किस्तों (माहवार, तिमाही, छमाही या सालाना) में आसानी से भुगतान किया जा सकता है. उदाहरण के लिए बचत योजना के तहत बीमित व्यक्ति के वेतन से माहवार कटौती की मार्फत प्रीमियम के भुगतान का आसान उपाय मुहैया कराती है.

नकदी

बीमा बचत के मामले में किसी ऐसी पालिसी की जमानत पर जो कर्ज मूल्य प्राप्त कर चुकी हो, कर्ज मिलना आसान होता है. इसके अलावा, जीवन बीमा पालिसी को व्यावसायिक कर्ज की जमानत के रूप में भी स्वीकार किया जाता है.

टैक्स छूट

आय कर और संपत्ति कर कटौती के उपयोग का भी जीवन बीमा सबसे उपयुक्त उपाय है. जीवन बीमा की प्रीमियमों के रूप में अदा की जाने वाली रकम पर यह सुविधा उपलब्ध है, जो लागू आय कर दरों पर निर्भर करती है. करदाता कर कानून के प्रावधानों का लाभ उठाकर करों में रियायत पा सकता है. इस तरह के मामलों में बीमित व्यक्ति को दूसरी तरह की योजना के मुकाबले छोटी प्रीमियमें भरनी होती है.

जरूरत के समय पैसे

किसी जीवन बीमा पालिसी से समय पर पैदा होने वाली पैसों की जरूरत को पूरा किया जा सकता है. बच्चों की पढ़ाई – लिखाई, गृहस्थी शुरू करने या शादी के खर्चों या किसी खास मौके में पैदा होने वाली मौद्रिक जरूरतों को पूरा करना इन पालिसियों की मदद से आसान हो जाता है. इसके विपरीत पालिसी के पैसे व्यक्ति के सेवानिवृत्ति होने पर मकान बनवाने या दूसरे निवेशों जैसे कामों के लिए उपलब्ध हो सकते हैं. इसके अलावा, पालिसी धारकों को फ्लैट खरीदने के लिए कर्ज भी उपलब्ध कराया जाता है.

मार्कशीट लोन क्या है और कैसे मिलेगा Marksheet Loan in Hindi

होम लोन कैसे मिलेगा होम लोन की जानकारी हिंदी में

कौन खरीद सकता है पालिसी

कोई भी वयस्क स्त्री – पुरुष जो वैध अनुबंध कर सकता है अपना और उनका बीमा करा सकता है जिनके साथ उनके बीमा कराने योग्य हित जुड़े हों. व्यक्ति अपने पति / पत्नी का भी बीमा करा सकता है लेकिन इसके साथ कुछ शर्तें जुड़ी हैं बीमा प्रस्तावों को स्वीकार करते समय निगम व्यक्ति के स्वास्थ्य, उसकी आय और दूसरे प्रासंगिक कारकों पर विचार करता है.

स्त्रियों के लिए बीमा

राष्ट्रीयकरण (1955) से पहले कितनी ही बीमा कंपनियां स्त्रियों का बीमा करने के लिए अतिरिक्त प्रीमियमें लेती थी या कुछ अवरोधक शर्तें लगाती थी. लेकिन, राष्ट्रीयकरण के बाद से जिन शर्तों पर औरतों का जीवन बीमा किया जाता है, उन शर्तों की समय-समय पर समीक्षा की जाती है. आज कमाने वाली कामकाजी औरतों को मर्दों के समतुल्य माना जाता है. दूसरे मामलों में निवारक शर्त लगायी जाती है. वह भी सिर्फ तब जब औरत की उम्र 30 साल तक हो और कराधान सीमा में आने लायक उसकी आमदनी न हो.

शाम के बाद महिलाओं के साथ ऐसा नहीं कर सकते हैं !

भारतीय महिला को जरूर पता होना चाहिए कानूनी अधिकार

चिकित्सकीय गैर चिकित्सकीय योजनाएं

आम तौर पर जीवन बीमा बीमित व्यक्ति के स्वास्थ्य की जांच के बाद किया जाता है. लेकिन, जीवन बीमा को व्यापक प्रसार देने और असुविधाओं को टालने के लिए जीवन बीमा निगम बिना डाक्टरी जांच के बीमा सुरक्षा देने लगा है, जिसके साथ कुछ शर्तें जुड़ी होती हैं.

लाभ के साथ और बिना लाभ की योजनाएं

कोई बीमा पालिसी लाभ आधारित हो सकती है या बिना लाभ की भी हो सकती है. लाभ आधारित पालिसियों के मामले में घोषित बोनस एक निश्चित अवधि पर होने वाले नियमित मूल्यांकनों के बाद पालिसी के साथ आवंटन किया जाता है और अनुबंधित रकम के साथ उनका भुगतान देय होता है. बिना लाभ वाली पालिसियों के मामले में बिना किसी जोड़ के अनुबंधित रकम अदा की जाती है. लाभ युक्त पालिसी की प्रीमियमों की रकम इसीलिए लाभ रहित पालिसियों के मुकाबले ज्यादा होती है.

कीमैन बीमा

कीमैन बीमा व्यापारिक कंपनी को अपने महत्वपूर्ण कर्मचारियों के असामयिक निधन से होने वाले वित्तीय नुकसान से बचाने के लिए करती हैं. आज कई ऐसी बीमा कंपनी है जो कर्मचारी बीमा करती है.  लेकिन, LIC की बीमा अन्य सभी से बेहतर है.

You May Also Read

एल आई सी क्या है और एल आई सी से ही बीमा क्यों लें?

Top 5 Financial Target before age of 30

पर्सनल फाइनेंसियल प्लानिंग कैसे करें?

बिजनेस और व्यापार कैसे अलग है?

फाइनेंस की कुछ बातें जो हमेशा याद रखनी चाहिए

LIC Kya Hai What is LIC in Hindi इसकी जानकारी पूरी हो चुकी है. उम्मीद है पोस्ट में बताया गया सभी जानकारी आपके समझ आ गई है. किसी गिला, शिकवा, शिकायत के लिए नीचे कमेंट बॉक्स में अपना कमेंट जरूर दे सकते है.

Source: LIC Of India Official Website

People may also search : lic kya hai, what is lic in hindi, lic kya hai in hindi, lic plan kya hai, lic  bima yojna in hindi, lic policy ki jankari hindi me, lic jeevan bima,

Subscribe for Quick Update

About the Author: Guruji Tips

Guruji Tips is a website to provide tips related to Blogging, SEO, Social Media, Business Idea, Marketing Tips, Make Money Online, Education, Interesting Facts, Top 10, Life Hacks, Marketing, Review, Health, Insurance, Loan and Internet-related Tips. यदि आप भी अपना Content इस Blog के माध्यम से publish करना चाहते हो तो कर सकते हो. इसके लिए Join Guruji Tips Page Open करें. आप अपना Experience हमारे साथ Share कर सकते हो. धन्यवाद !
loading...

Related Post

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *