फाइनेंसियल सिक्योरिटी के लिए क्या करें?

Financial Security kya Hai, फाइनेंसियल सिक्योरिटी के लिए क्या करें इससे पहले यह जानना बहुत जरूरी है. फाइनेंसियल सिक्योरिटी क्या होता है? फाइनेंसियल सिक्योरिटी के लिए फाइनेंसियल एजुकेशन को समझना बहुत जरूरी है. हम में से कुछ लोग बहुत अच्छा तनख्वाह या अपने व्यवसाय या व्यापार से बहुत अच्छा धन कमा लेते है. लेकिन, आर्थिक तंगी से लड़ते रहते हैं. क्या आप जानते हो इसका कारण क्या हो सकता है? वहीँ दूसरी और कुछ लोग बहुत काम आमदनी में बहुत अच्छा धन बना लेते हैं. समय के साथ उनके पास घर गाड़ी सभी सुख सुविधाएं मौजूद होती है. इसका वजह फाइनेंसियल एजुकेशन है.

फाइनेंसियल सिक्योरिटी क्या है?

इसके अंतर्गत कमाए गए धन या पैतृक धन सम्पदा के आधार पर कुछ ऐसा करना होता है जिससे आर्थिक रूप से खुद को और परिवार को सुरक्षा दे सको. हम या कमाई के अनुसार खर्च करते हैं या खर्च के अनुसार कमाई बढ़ाते हैं. आप किस श्रेणी में आते हो इसकी जानकारी आपके पास होगी। कमाई के अनुसार खर्च करना बहुत अच्छी बात है. लेकिन, कुछ ऐसे खर्चे होते हैं जो बिना बताये आ जाती है. क्या इसके लिए आपके पास कोई प्लान है? जब तक कोई परिवार या व्यक्ति आर्थिक रूप से आजाद नहीं हो वह दिवालियेपन से महज दो या तीन सैलरी दूर होता है. यदि इस स्थिति से बचना चाहते हैं हो आज से ही फाइनेंसियल सिक्योरिटी के लिए कुछ करना शुरू कर दो.

financial security tips

पर्सनल फाइनेंसियल प्लानिंग कैसे करें?

फाइनेंसियल सिक्योरिटी कैसे करें?

फाइनेंसियल सिक्योरिटी मतलब आर्थिक आजादी इस बात पर जोड़ देने का मकसद सिर्फ इतना है. यदि जीवन में आर्थिक रूप से स्वतंत्र नहीं हुए तो जीवन में चूहा दौड़ लगा ही रहेगा. इसके लिए बचत की आदत डालना बहुत जरूरी है. अब यह भी बहुत बड़ा सवाल है. बचत कैसे करें? बचत होता नहीं है मेरे दोस्त बचत करना पड़ता है. कुछ लोगों का कहना है मेरी कुल कमाई मेरे कुल खर्च के बराबर है. ऐसे में मैं बचत कैसे करूं? जिस तरह आमदनी बढ़ती है हम अपने खर्च को बढ़ा देते हैं. इसके लिए जरूरत और चाहत में अंतर समझने की जरूरत है. बचत के लिए जरूरत के जगहों पर खर्च करो. जब आपके पास इतना हो जाये जिससे चाहत पर खर्च करने से भी आर्थिक आजादी बानी रहे तभी खर्च करना चाहिए.

फाइनेंस की कुछ बातें जो हमेशा याद रखनी चाहिए

परिवार या व्यक्ति के सुरक्षित भविष्य के लिए आर्थिक योजना तैयार करना बहुत जरूरी है. जिस तरह जिन्दा रहने के लिए हवा और पानी की जरूरत है. ठीक उसी तरह सही तरीके से जीवन जीने के लिए Financial Security भी बहुत जरूरी है. खर्च कभी भी हमारा पीछा नहीं छोड़ता है. इसीलिए, इन खर्चों के साथ बचत की भी आदत डालना बहुत जरूरी है. बचत करना सबसे कठिन काम है और जब मेहनत की कमाई से बचाए गए पैसे अचानक कहीं खर्च हो जाए तो बहुत कष्ट होता है. इसीलिए कुछ ऐसे तरीके हैं जिससे बचत का पैसा खर्च किए ऐसी मुश्किलों से आसानी से निपट सकते हैं. इन सभी बातों को सही से समझने के लिए Finance Kya Hai यह जरूर पता होनी चाहिए.

Life insurance

जीवन बीमा बचत के लिए बहुत अच्छा विकल्प नहीं है. लेकिन, आर्थिक रूप से स्वतंत्र होने के लिए यह बहुत जरूरी है. भारतीय जीवन बीमा का एक टैग लाइन है, “जिंदगी के साथ भी, जिंदगी के बाद भी” यह आपके परिवार को कुछ मायनों में बहुत हद तक आर्थिक रूप से मदद करता है. लेकिन, किसी भी तरह का बीमा खरीदने से पहले इसकी जाँच पड़ताल जरूर कर लें. आप जो जीवन बीमा खरीद रहे हो उसका नियम व शर्त क्या है? वह किस तरीके से काम करती है. Insurance के बारें में ज्यादा जानकारी के लिए क्लिक करें.

Health Insurance

जीवन जीने के लिए रोटी, कपड़ा और मकान यह तीन मूल भूत आवश्यकता है. इसके साथ ही यदि स्वास्थ्य सम्बंधित कोई परेशानी हो गयी तो इसका ध्यान देना भी अति आवश्यक है. स्वास्थ्य एक ऐसा विषय है जिस पर व्यक्ति जीवन भर की कमाई के साथ प्रॉपर्टी भी खर्च कर देता है. इसीलिए गंभीर बीमारियों में होने वाले बड़े खर्चों से बचने के लिए स्वास्थ्य बीमा जरूर करवाना चाहिए. कैंसर जैसी भयानक बीमारी गरीबी या अमीरी देख कर नहीं आती है. इसीलिए यदि सव्स्थ्य सम्बंधित अचानक खर्च से बचने के लिए यह जरूरी है.

होम लोन इंश्योरेंस क्या है What is Home Loan Insurance

Niminee

कुछ ऐसे लोग होते हैं, जिनेक बैंक खता, इन्सुरेंस पालिसी में कोई उत्तराधिकारी नहीं होता है. इससे भविष्य में परिवार और बच्चों को बहुत परेशानियों का सामना करना होता है. ऐसी स्थिति से बचने के लिए संपत्ति का उत्तराधिकारी का चुनाव जरूर कर लें.

Assets Information

कई बार संपत्ति बहुत बड़ी लड़ाई झगड़े का वजह बन जाता है. इसका वजह है संपत्ति का सही कागजात और सही लोगों के हाथो में न होना. परिवार के मुखिया को वसीयत जरूर लिखनी चाहिए. वसीयत में चल और अचल दोनों ही संपत्ति का पूरा विवरण के साथ उत्तराधिकारी और संपत्ति का कितना हिस्सा किसे दे रहे हो यह जरूर लिखा होना चाहिए. वसीयत बनवाने के लिए किसी वकील से संपर्क कर सकते हो.

होम लोन लेने के पहले इन बातों को जरूर जान लें

Related Information

जीवन बीमा या स्वास्थ्य बीमा या बैंक से सम्बंधित कई काम एजेंट के माध्यम से करवाया जाता है. कई बार वह हमें उचित और जरूरी दस्तावेज देते हैं और कई बार नहीं देते है. जब कभी इन दस्तावेजों की जरूरत होती है, एजेंट हमें बोलता है साहब मैंने बांड पेपर दे दिया है. आप एजेंट से कहते हो, अभी तक तुमने नहीं दिया है. ऐसी समस्या जब आज है तो आगे जब मेडिकल क्लैम या इन्शुरन्स क्लेम लेना हो तब क्यूँ नहीं हो सकता है. इन्हीं वजहों से सभी कागजात और सम्बंधित व्यक्ति का संपर्क सूत्र मंगल सूत्र की तरह रखें.

You May Also Read

म्यूच्यूअल फण्ड क्या है What is Mutual Fund in Hindi

ग्राहक सेवा केंद्र क्या है Grahak Seva Kendra

Bank Account me Aadhaar Card Kaise Link Kare

ATM से पैसा निकालने पर बैंक कितना पैसा काटती है?

Bank Account में PAN Card कैसे लिंक करें

Financial Security Kya Hai उम्मीद यह जानकारी आपको बहुत पसंद आई है. यदि किसी और विषय के बारें में जानना चाहते हो तो नीचे कमेंट बॉक्स जरूर कमेंट करें. इस पोस्ट से सम्बंधित यदि कोई गिला, शिकवा, शिकायत हो तो वह भी बताएं.

Subscribe for Quick Update

About the Author: Guruji Tips

Guruji Tips is a website to provide tips related to Blogging, SEO, Social Media, Business Idea, Marketing Tips, Make Money Online, Education, Interesting Facts, Top 10, Life Hacks, Marketing, Review, Health, Insurance, Loan and Internet-related Tips. यदि आप भी अपना Content इस Blog के माध्यम से publish करना चाहते हो तो कर सकते हो. इसके लिए Join Guruji Tips Page Open करें. आप अपना Experience हमारे साथ Share कर सकते हो. धन्यवाद !
loading...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *