26 January गणतंत्र दिवस क्यूँ मनाया जाता है?

26 January, गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है. भारतीय इतिहास में गणतंत्र दिवस का इतिहास बहुत ही महत्वपूर्ण है. यह दिन हमें पूर्ण स्वतंत्र होने के साथ हर उस संघर्ष के बारे में याद दिलाता है जो भारत ने अपनी स्वतंत्रता प्राप्त करने लिए खोया था. 26 जनवरी 1929 में कांग्रेस का एक महत्वपूर्ण अधिवेशन लाहौर (अभी पाकिस्तान में है) में रावी नदी के किनारे हुआ था. इस अधिवेशन में हमारे स्वतंत्रता सैनानियों ने भारत को पूर्ण स्वराज्य दिलाने की प्रतिज्ञा ली थी. जो कि 15 अगस्त 1947 को पूरी हुई.

समय क्या है, समय किसे कहते हैं, What is Time in Hindi

26 January क्या है

15 अगस्त 1947 में भारत को आज़ादी मिली लेकिन, देश के पास अपना कोई संविधान नहीं था. उस वक़्त डॉ. राजेंद्र प्रसाद के सहयोग से 26 जनवरी 1950 में भारत का संविधान लागु हुआ. संविधान लिखने में लगभग 2 वर्ष 11 महीने 18 दिन लग गया. क्यूंकि इसकी शुरुआत 26 जनवरी 1929 में हुआ था इसीलिए हर साल 26 जनवरी के दिन इस राष्ट्रिय पर्व को बड़े ही धूम धाम से मनाया जा रहा है. संविधान के अनुसार देश के सभी नागरिक को सार्वभौम, धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी घोषित कर दिया गया. इसके अनुसार देश के हर एक नागरिक को सामाजिक, आर्थिक और राजनितिक, अधिकार दिए गए और सबको सामान अवसर दिया गया है. इसमें भारत को धर्मनिरपेक्ष राज्य घोषित किया गया. 26 जनवरी हमें जागरण की नई दिशा की ओर ले जाता है और हर वर्ष नागरिक स्वतंत्रता और पूर्ण स्वाधीनता का याद दिलाता है.

26 january kyu manate hai

इस राष्ट्रिय पर्व के बड़ी तयारी के साथ हम देश के अमर शहीदों के अमर बलिदानों को याद करते हैं. लालकिले पर राष्ट्रपति द्वारा राष्ट्रध्वज फहराने के बाद देश में सभी जगहों पर तिरंगा फहराया जाता है. इसके राष्ट्रगान के साथ देश के अमर जवानों को नमन किया जाता है. 26 जनवरी 1950 में जिस गणतंत्र की पक्की नींव राखी गयी थी वह आज फीकी पड़ती साफ दिखाई दे रही है. शासन से लिंग, जाति, धर्म, को हटाकर वर्गहीन और जातिहीन समाज का सपना आज बिखरता जा रहा है. जरूरत है हम सब एक जूट होकर हमारे देश के विकास के बारें में सोचें.

बी ए के बाद क्या करें BA Ke Baad Kya Kare

26 January क्यूँ मानते है

आजादी और गणतंत्र के 7 दशक के बाद भी आज भी भारत देश वही पुरानी समस्याओं से जूझ रही है. वही पुराणी सामाजिक कुरीतियाँ, पुरानी रंजिशे साथ ही कई नई परेशानी ने भी देश को घेर रखा है. आज तो न वो नेता है न ही वो स्वतंत्रता सैनानी जिन्होंने, हमें आजादी दिलवाने में अपना जान तक न्योछावर कर दिया. लेकिन फिर भी हमारे देश के नेता को रत्ती भर भी शर्म नहीं है. यहाँ तो सभी अपनी रोटी सेकने में लगा है. हमारे अच्छे, बुरे, सही गलत सभी जिम्मेदारी हमारी है. हर बात पर सरकार को कोशा जाता है. हम सभी को एक होकर बेहतर कल बनाने के बारें में सोचना चाहिए.

गणतंत्र दिवस हर भारतीय के लिए बहुत मायने रखता है. यह दिन हम सभी के लिए बहुत महत्व का दिन है जिसे हम बेहद ही उत्साह के साथ मनाते हैं. भारत एक महान देश है और सिर्फ भारत में अनेकता में एकता देखने को मिलती है. जहां विभिन्न जाति और धर्म के लोग प्यार से रहते है. 26 जनवरी और 15 अगस्त दो ऐसे राष्ट्रीय दिवस हैं जिसे हर भारतीय खुशी और उत्साह के साथ मनाता है.

कॉलेज स्टूडेंट के लिए पार्ट टाइम जॉब Part time job for student

गणतंत्र दिवस से जुड़े कुछ तथ्य

  • पूर्ण स्वराज दिवस (26 जनवरी 1930) को ध्यान में रखते हुए भारतीय संविधान 26 जनवरी को लागू किया गया था.
  • 26 जनवरी 1950 को 10.18 मिनट पर भारत का संविधान लागू किया गया.
  • गणतंत्र दिवस की पहली परेड 1955 को दिल्ली के राजपथ पर हुई थी.
  • भारतीय संविधान की हाथ से लिखी मूल प्रतियां संसद भवन के पुस्तकालय में सुरक्षित रखी हुई हैं.
  • भारतीय संविधान की दो प्रतियाँ जो हिन्दी और अंग्रेजी में हाथ से लिखी गई.
  • भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ.राजेंद्र प्रसाद ने गवर्नमैंट हाऊस में 26 जनवरी 1950 को शपथ ली थी.
  • गणतंत्र दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति तिरंगा फहराते हैं और हर साल 21 तोपों की सलामी दी जाती है.
  • 29 जनवरी को विजय चौक पर बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी का आयोजन किया जाता है जिसमें भारतीय सेना, वायुसेना और नौसेना के बैंड हिस्सा लेते हैं.
  • गणतंत्र दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री अमर ज्योति पर शहीदों को श्रद्धाजंलि देते हैं जिन्होंने देश के आजादी में बलिदान दिया.
  • यह दिन गणतंत्र दिवस के समारोह के समापन के रूप में मनाया जाता है.

You May Also Read

Republic Day Speech गणतंत्र दिवस पर हिंदी में भाषण

Top 10 Songs for 26 January Republic Day in Hindi

26 January Republic Day Shayari In Hindi

गणतंत्र दिवस पर निबंध Essay On 26 January Republic Day in Hindi

26 January Speech in Hindi गणतंत्र दिवस भाषण

26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर नए नारे Slogans for Republic Day

गणतंत्र दिवस पर सुविचार 26 January Quotes in Hindi

26 January गणतंत्र दिवस क्यूँ मनाया जाता है?

India में Graduates बरोजगार क्यूँ हैं?

People May Also Search : republic day hindi speech, republic day in hindi, 26 january bhashan, 26 january speech in hindi, 26 january kyu manate hai, 26 january shayari in hindi,

Subscriber Guruji Tips Email Box for Quick Update

About the Author: Guruji Tips

Guruji Tips is a website to provide tips related to Blogging, SEO, Social Media, Business Idea, Marketing Tips, Make Money Online, Education, Interesting Facts, Top 10, Life Hacks, Marketing, Review, Health, Insurance, Loan and Internet-related Tips. यदि आप भी अपना Content इस Blog के माध्यम से publish करना चाहते हो तो कर सकते हो. इसके लिए Join Guruji Tips Page Open करें. आप अपना Experience हमारे साथ Share कर सकते हो. धन्यवाद !
loading...

You May Also Like

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *