Samjhauta Express Delhi to Lahore समझौता एक्सप्रेस दिल्ली से लाहौर

अपने 5000 सालों के इतिहास में भारतीय उपमहाद्वीप ने कई आक्रमणों का सामना किया है. जिनमे से आखरी आक्रमण अंग्रेजों का है और अंग्रेजों की सबसे बड़ी विरासतों में से एक थी Railway जो उनके भारतीय साम्राज्य की हदों से बाहर फैलने लगी थी. लेकिन 1947 में अंग्रेज भारत छोड़कर चले गए और बड़े आराम से भारत उपमहाद्वीप का विभाजन कर दिया. कई पुराने रेल मार्ग सीमावर्ती इलाको से होकर गुजरने की वजह से बंद करना पड़ा. लेकिन कुछ बच गए उन्हें आज भारत के Frontier Railway के नाम से जाना जाता है.

Samjhauta Express

आजादी के बाद भारत और पाकिस्तान के बिच 4 (Four) युद्ध (1947, 1965,1971, 1999) हो चूका है और सीमा के आड़ पाड़ तो न जाने कितनी बार झड़प हो चुकी है. लेकिन इतना सब होने के बावजूद भी इन दोनों मुल्कों के बीच एक रिश्ता और भी है इन दोनों मुल्कों के बीच का जो रिश्ता है वह है यह Rail Track जिस पर से होकर समझौता एक्सप्रेस (Samjhauta Express) इन दोनों मुल्कों के लोगों को जोड़ती है.

Samjhauta Express

सन 1947 के एक नक्शे पर ब्रिटेन के एक जज ने यह सीमा बनाया था. इस बंटवारे की वजह से 1000000 लोगों का कत्लेआम हुआ और 1,40,00,000 लोग Migrate हो गए न जाने कितने परिवार एक दुसरे अलग हो गए थे. लेकिन इतना सब होने के बावजूद भी भारत और पाकिस्तान ने मिलकर इस Train को चलाया जो सीमा पार रह रहे लोगों को एक दूसरे से मिलाने का काम कर रही है. आज समझौता एक्सप्रेस (Samjhauta Express) ही है जो उन बिछड़े हुए परिवारों और दोस्तों को मिलाने का काम कर रही है. 

Samjhauta Express Delhi (India) to Lahore (Pakistan)

  • यह Train भारत की राजधानी (Capital) दिल्ली से लाहौर के लिए सप्ताह में दो बार चलती है.
  • यह ट्रेन एक इंटरनेशनल ट्रेन है.
  • अंग्रेज शासकों ने भारत की राजधानी दिल्ली का रेलवे स्टेशन बगल में स्थित लाल किले की तरह ही बनाया था.

  • समझौता एक्सप्रेस के लिए दिल्ली रेलवे स्टेशन पर एक अलग Platform Security Wing भी है.
  • इंटरनेशनल ट्रेन (International Train) होने की वजह से इन दोनों देशों के दोस्ती के खिलाफ रहने वाले लोग इस Train को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं.

[Case Study] Today’s dangerous disease आज के समय का सबसे बड़ा रोग क्या कहेंगे लोग !

Blogging में सफलता प्राप्त करने का मतलब क्या है ?

Top 10 Hinglish and Hindi Blog List

  • समझौता का मतलब होता है एग्रीमेंट और एग्रीमेंट दो पक्षों के बीच होता है.
  • समझौता एक्सप्रेस पहली बार 22 July 1976 में शिमला समझौता के बाद चलाई गई थी.
  • टिकट लेने का तरीका Train से बिल्कुल ही अलग है.
  • इस Train में टिकट लेने के लिए पैसेंजर के पास Passport और Visa होना Compulsory है.
  • Without Passport और Visa Passengers इस Train का टिकट नहीं ले सकता है.
  • इस Train में Ticket लेने के लिए कई लोग Visa Apply करते हैं. लेकिन, उनमे से कुछ इ लोगो को Visa मिल पता है.
  • Visa नहीं मिलने की स्थिति में सरकार उन applicants को कोई जवाब भी नहीं देती है.
  • इस Train से चलने वाले लोग किसी Business व्यवसाय के लिए नहीं बल्की सरहद पार अपने दोस्तों परिजनों से मिलने के लिए आते हैं.
  • यह सफर प्यार भरा सफर होता है. passengers अपने परिवार, दोस्तों से मिलने का आस लिए Delhi Railway Station से अपना यात्रा आरम्भ करते हैं.
  • दिल्ली रेलवे स्टेशन से लाहौर रेलवे स्टेशन की दूरी तय कर यह Train लाहौर पहुंच जाती है.
  • लाहौर पाकिस्तान की दूसरी सबसे बड़ी City है. लाहौर की आबादी लगभग एक करोड़ से भी ज्यादा है. लाहौर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की राजधानी है. आज़ादी के पहले भी यह Punjab था और आज भी यह Punjab है.
  • अंग्रेजो ने दिल्ली रेलवे स्टेशन की तरह ही लाहौर Railway Station को बनवाया था. Lahore Station के साथ किला भी लगता है.
  • अंग्रेजों ने लाहौर में 100 Acre area में रेलवे का Workshop, Offices और Training College बनावाया था, जहां रेलवे कर्मचारियों को Training दी जाती थी.
  • इस ट्रेन से सफर करने वाले लोगों का यह पहला इंटरनेशनल ट्रेवल होता है.
  • आज बंटवारे के बाद 40 सालों से लगातार समझौता एक्सप्रेस सीमापार लोगों को एक दूसरे से मिलवाने का काम बखूबी निभा रही है.
  • समझौता एक्सप्रेस का किराया बस और हवाई जहाज के किराये से बहुत कम है.
  • भारत की तरफ से सीमावर्ती Railway Station Attari है जबकि Pakistan की तरफ से सीमावर्ती Railway Station Wagah है.

Attari Railway Station

  • भारत से जा रही Train की Rechecking Attatri और Wagah Railway Station पर फिर से की जाती है.
  • Finally Samjhauta Express Delhi से चलकर Lahore पहुँच जाती है.

Returning from Lahore (Pakistan) To Delhi (India)

  • Pakistan से India जाने के लिए भी Same प्रक्रिया follow करना पड़ता है.
  • पाकिस्तान से भारत आने के लिए भी पाकिस्तान Embassy में Visa Apply करना होता है.
  • सघन जांच के बाद लोगों को वीजा दिया जाता है जितने लोगों Visa के लिए अप्लाई करते हैं उनमें से कुछ लोगों को भी वीजा मिल पाता है.

Some Interesting Facts जो शायद आप नहीं जानते !

101 Interesting facts about world Must Know

Adsense Kaise kaam Karta hai – Adsense Tips

  • कुछ लोगों का वीजा पाकिस्तान Embassy के द्वारा Reject कर दिया जाता है तो कुछ का वीजा Indian Embassy के द्वारा रोक दिया जाता है जैसा कि मैं बता चुका हूं कि Visa नहीं मिलने की स्थिति में सरकार पैसेंजर्स को कोई जवाब नहीं देती है.
  • सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद Train पाकिस्तान के लाहौर स्टेशन से भारत के पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के लिए रवाना हो जाती है.

  • पाकिस्तान से भारत जाते वक्त Passengers को Wagah Railway Station पर पाकिस्तान Custom और Emigration Officers का सामना करना होता है.

Wagah Railway Station

  • यहाँ बहुत ही सख्ती से Train, Passengers और Visa की जाँच होती है.
  • Wagah Railway Station से चलने के बाद Train No Man’s Land में दाखिल होती है और दोनों देशों के बीच जीरो लाइन पर ट्रेन रुक जाती है.

  • इसके बाद जब अगले स्टेशन जो भारत का पहला सीमावर्ती स्टेशन Attari है, वहां से Confirmation मिलने के बाद लाहौर से आ रही समझौता एक्सप्रेस भारत की सीमा में प्रवेश करती है.

  • Attari Railway Station पहुंचते ही ट्रेन की सघन जांच होती है.
  • Attari Railway Station पर सभी Passengers को Indian Custom और Emigration Officer फिर से एक बार Train और Visa की जांच करते हैं.

attari Railway Station

  • Attari Railway Station से चलते ही Train (Samjhauta Express) को Seal कर दिया जाता है.
  • Attari और Dilli के बीच न कोई चढ़ सकता है और न ही उतर सकता है.
  • ट्रेन के अंदर हथियार बंद सुरक्षा कर्मी होते हैं जो ट्रेन के अंदर सफ़र कर रहे यात्रियों के हिफाजत के लिए होते हैं.

NOTE : सही मायने में समझौता एक्सप्रेस Pakistan के Lahore से India के Attari तक ही चलती है. Attari Railway Station जाँच की प्रक्रिया पूरा होने के बाद Passengers को दुसरे Train से Attari से दिल्ली लाया जाता है. 

Samjhauta Express Fare

Regular Ticket (12 and above)

Sleeper AC 3-tier
Base Fare 255 668
Catering Charges
Reservation Charges 20 40
Superfast Charges
Other Charges
Concession
GST 5% **new 35
Net Fare 275 743
Tatkal Surcharge ~81 ~211
Child Ticket (5 – 11)

Sleeper AC 3-tier
Base Fare 255 668
Catering Charges
Reservation Charges
Superfast Charges
Other Charges
Concession -128 -334
GST 5% **new 17
Net Fare 127 351
Tatkal Surcharge ~41 ~106
Sr. Citizen Female (58 and above)

Sleeper AC 3-tier
Base Fare 255 668
Catering Charges
Reservation Charges 20 40
Superfast Charges
Other Charges
Concession -128 -334
GST 5% **new 19
Net Fare 147 393
Tatkal Surcharge ~41 ~106
Sr. Citizen Male (60 and above)

Sleeper AC 3-tier
Base Fare 255 668
Catering Charges
Reservation Charges 20 40
Superfast Charges
Other Charges
Concession -102 -267
GST 5% **new 22
Net Fare 173 463
Tatkal Surcharge ~48 ~127

Samjhauta Express Time Table

समझौता एक्सप्रेस पुराणी दिल्ली रेलवे स्टेशन से रविवार और बुद्धवार को रात के 11:30 बजे चलती है और सुबह 07:15 में पाकिस्तान अटारी पहुँच जाती है. इन दोनों स्टेशन के बीच की दूरी 472.2 किलोमीटर है. अटारी में फिर से चेकिंग की जाती है और इसके बाद यह लाहौर के लिए रवाना होती है.

वापसी के समय यह ट्रेन लाहौर से सोमवार और गुरुवार को 08:30 बजे चलकर 12:30 बजे अटारी पहुँचती है. कुछ जरूरी जाँच प्रक्रिया पूरा होने के बाद यह Wagah पहुचती है. यहाँ फिर से चेकिंग की जाती है सभी जरूरी प्रक्रिया पूरा होने के बाद ट्रेन को सील कर दिया जाता है. इसके बाद यह पुराणी दिल्ली रेलवे स्टेशन के लिए रवाना हो जाती है.

You may also read

शाम के बाद महिलाओं के साथ ऐसा नहीं कर सकते हैं!

Indian Graduates बरोजगार क्यूँ हैं ? इसके लिए दोषी कौन है ?

WhatsApp को Hack होने से कैसे बचाये ?

Laptop से Connected Wifi का Password कैसे जाने ?

पढाई के साथ Earning कैसे करें ?

यदि आपका कोई Family Business है तो Free में Advertise कैसे करें?

इस Post के बारें में अपना राय जरूर दें. Thank you !

Conclusion Samjhauta Express

भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली यह अंतर्राष्ट्रीय (International) ट्रेन है. यह ट्रेन बहुत ही कड़ी सुरक्षा के बीच पाकिस्तान के लाहौर से सप्ताह में दो बार सोमवार और गुरुवार को चलती है. इसी तरह सप्ताह में दो बार भारत के पुराणी दिल्ली रेलवे स्टेशन से पाकिस्तान के लाहौर तक सप्ताह में दो बार रविवार और बुद्धवार को चलती है. इस ट्रेन में यात्रा करने के लिए पासपोर्ट और वीजा की जरूरत है. बिना पासपोर्ट और वीजा के आप इस ट्रेन से यात्रा नहीं कर सकते हैं. सही मायने में यह ट्रेन पाकिस्तान के अटारी से भारत के वाघा तक ही चलती है. यह ट्रेन 472.2 किलोमीटर का यात्रा कर यात्री को गंतव्य स्थान तक पहुंचती है. इन दोनों स्टेशन के बीच इसका कोई भी स्टॉपेज नहीं है. जिस किसी भी स्टेशन पर ट्रेन रूकती है वहाँ चेकिंग के लिए रूकती है.

People may also search for : Samjhauta Express, Samjhauta Express Fare, Samjhauta Express Time Table, Samjhauta Express Train Number.

Subscribe for Quick Update

About the Author: Ashutosh Choudhary

THERE ARE NO SECRETS TO SUCCESS. IT IS THE RESULT OF PREPARATION, HARD WORK AND LEARNING FROM FAILURE. So Always Remember One Thing. "LEARN FOR EARN AND EARN FOR LEARN".
loading...

Related Post

14 Comments

  1. Guruji mere uncle karachi me rahte hain ham aj se pahle waha kabhi nahi gaye
    Sirf facebook par hi bat hoti hai kabhi kabhar
    Kitna % ummid hai ki mujhe visa mil jayega

  2. Baba farid ganjshakker ki bargah dekhna chahte hai jo pakpatan me hai kya abi bi ye train chalti hai please bataye humko visa milega

    1. Pakistan Jane ke liye Visa ki jaroorat hoti hai Visa ke liye kaise apply kare iske bare me agle post me publish kiya jayega. Visa ke liye online indianvisaonline.gov.in/visa/Registration apply kar sakte hain.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *