Government New Scheme काम के दौरान 1 घंटा का Sex Break!

New Scheme of Government 1 Hour Sex Break ! सुनने में अजीब लग रहा है क्या? कहीं ऐसा तो नहीं लग रहा आप गलत पढ़ रहे हो? जी नहीं ऐसा बिलकुल नहीं है आप बिलकुल सही पढ़ रहे हो. New Scheme of Government  काम के दौरान 1 घंटा का Sex Break! कितना अच्छा रहेगा यदि काम के दौरान एक घंटा के Lunch के साथ – साथ 1 घंटा का Sex Break भी मिले. ये बात अपने Boss से मत पूछ लेना नौकरी चली जाएगी. ऐसा भारत में कभी नहीं हो सकता यहाँ की सरकार Employee के बारें में कुछ भी नहीं सोचती है. सबसे ज्यादा अपने Employee के बारें में कोई सोचता है तो वो है Sweden Government! यदि आप भी इस सुविधा का लाभ उठाना चाहते हो तो आपको भी Sweden जाना होगा.

paid sex Sweden

Sex Break during Work

Sweden की सरकार का प्रस्ताव है कि अब काम के बीच में कर्मचारियों को एक घंटा का Break दी जाएगीताकि वो अपने Partner के साथ Sex कर सकेइतना ही नहीं उस एक घंटे के दौरान Employee के पैसे भी नहीं काटे जाएगें. मतलब Sex करने के पैसे मिलेंगे!

शाम के बाद महिलाओं के साथ ऐसा नहीं कर सकते हैं !

WhatsApp को Hack होने से कैसे बचाये ?

Sweden Government अपने कर्मचारियों  के हित के बारे में सोचने के लिए जानी जाती हैकर्मचारियों को काम के दौरान आराम मिल सके इसके लिए हमेशा कुछ न कुछ नया करते रहती हैइस बार Sweden के Overtornea City के Local Councillor Per-Erik Muskos, जो 42 Years के हैं, एक नया प्रस्ताव लेकर आए हैं. Per-Erik का कहना है कि Modern Era में व्यस्तता के कारण Couple एकदूसरे को समय नहीं दे पाते हैंजिसके कारण उनके Relationship खराब हो जाते हैंPer-Erik को उम्मीद है कि अगर ये प्रस्ताव पास हो जायेगा तो Couples के रिश्ते बेहतर होंगे.

यह कोई पहला अनोखा Scheme नहीं है. इससे पहले साल 2015 में Sweden के ही Cothenberg  में Nurse के लिए काम के घंटे 8 के बजाए 6 कर दिये गए थे. ये प्लान एकदो साल तक चलने वाले पायलट स्कीम का हिस्सा हैSweden Government कर्मचारियों से कम समय में अधिक काम कराने पर यकीन रखती हैइनका मानना है कि इससे कर्मचारी अच्छा काम करेंगेसाथ ही अपना निजी जीवन भी अच्छे से बिता सकेंगे. Sweden Government देश हित के साथ – साथ Employee के हित के हित में भी फैसले लेती है. Government Offices में 2 हिस्से बनाए गए थेजहां एक Group 6 घंटे काम करेगा और दूसरा 8 घंटेएक साल बाद result देखा जाएगा कि किस टीम ने अच्छा काम किया और छुट्टी कम ली.

Laptop से Connected Wifi का Password कैसे जाने?

पढाई के साथ Earning कैसे करें?

यदि आपका कोई Family Business है तो Free में Advertise कैसे करें?

वैसे 15 साल पहले इस नियम कि शुरुआत कार बनाने वाली कंपनी टोयोटा ने की थी.ये नियम बनाने के बाद कर्मचारियों ने जी जान लगा कर काम किया और कंपनी का मुनाफा भी अधिक हुआ. ऐसा भारत में भी होना चाहिए. India में कई Private Company में ऐसा होता है. Company को काम होने से मतलब है.

नेशनल स्लीप फाउंडेशन (National Sleep Foundation) की एक रिसर्च के मुताबिक America में married या Live-in Relationship में रहने वाले हर चार में से एक कपल ठीक से नींद नहीं ले पाते हैंजिसके कारण उन्हें थकान होती है और वे अपने पार्टनर के साथ सेक्स नहीं कर पाते हैंज्यादा काम करने की वजह से Couple का धीरेधीरे सेक्स से रुचि खत्म हो जाती है.

बता दें कि Sweden Government अपने कर्मचारियों से कम समय में अधिक काम कराने पर यकीन रखती हैइनका मानना है कि इससे कर्मचारी अच्छा काम करेंगेसाथ ही अपना निजी जीवन भी अच्छे से बिता सकेंगेतो अब Passport बनवा के Sweden के Visa के लिए Apply करें और इस नियम का फायदा उठायें.

You May Also Read

Bank Account ko Aadhaar Card se Kaise Link Kare?

[Case Study] आज के समय का सबसे बड़ा रोग क्या कहेंगे लोग!

Blogging में सफलता प्राप्त करने का मतलब क्या है?

Future of Indian Bloggers and Problems with Indian Bloggers

India में Graduates बरोजगार क्यूँ हैं?

Top 10 Benefits of Government Job : सरकारी नौकरी के फायदें!

यह एक Guest Post है. यदि आप भी Guruji Tips पर अपना लेख प्रकाशित करना चाहते हैं तो Click करें. इसके कुछ दिनों बाद ही Daily Mail में एक आर्टिकल आया जिसमें बताया गया Swedish Politicians ने इस प्रपोजल को reject कर दिया।

Subscribe for Quick Update

About the Author: Riya Jha

My Self Riya Jha I am here to sharing my knowledge and experience with the virtual world. Thanks For reading and Please Subscribe for the latest update in your mailbox. If You have any confusion regarding this topic you may ask in comment box.
loading...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *