ब्लैक हैट एस ई ओ क्या है What is Black Hat SEO in Hindi

What is Black Hat SEO in Hindi ब्लैक हैट एसईओ SEO का एक अद्भुत तरीका है जिससे रातों रात किसी वेबसाइट को रैंक करवाया जा सकता है. लेकिन यह वेबसाइट को हमेशा के लिए सर्च इंजन डेटाबेस से बाहर कर देता है. ब्लैक हैट में कई ऐसे तरीका का इस्तेमाल किया जाता है जो सर्च इंजन मन करता है. क्या आप Black Hat SEO और White Hat SEO के बारें में कुछ जानते हैं? ब्लॉग पोस्ट रैंकिंग के लिए SEO बहुत जरूरी है. लेकिन, कुछ लोग जल्दी रैंक कराने के लिए ब्लैक हैट का इस्तेमाल करते हैं.

black hat seo in hindi

SEO Kya Hai

SEO एक ऐसा प्रोसेस है जिससे किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग को सर्च इंजन SERP में रैंक करवाया जाता है. किसी ब्लॉग पोस्ट का SERP में जितना अच्छा रैंकिंग होगा इतना ज्यादा ट्रैफिक उस वेबसाइट पर आएगा। ऑनलाइन की दुनिया में ट्रैफिक ही सब कुछ है. जितना ज्यादा ट्रैफिक होगा उतना ही इनकम होगा। ऐसे ब्लोग्गेर्स जिनमें पेशेंस की कमीं होती है ट्रैफिक के लिए नई ट्रिक की तलाश में ब्लैक हैट का भी सहारा लेते हैं. Black Hat SEO से रिजल्ट बहुत जल्दी मिलता है लेकिन, यहाँ स्पैम स्कोर बहुत ज्यादा बढ़ जाता है जिस वजह से वेबसाइट कुछ ही दिनों में सर्च इंजन से गायब भी हो जाता है.

वेबसाइट या ब्लॉग की रैंकिंग के लिए SEO बहुत जरूरी है. सही तरीके से इसका इस्तेमाल नहीं करने से वेबसाइट की रैंकिंग ख़राब भी होता है. आज इंटरनेट पर ब्लॉग और वेबसाइट बहुत ज्यादा हो गया है ऐसे में यूजर के पास विकल्प ही विकल्प है. यदि सही से कंटेंट को Optimize नहीं गया तो रैंकिंग सही नहीं होगा और ट्रैफिक नहीं मिलेगा। सभी लोग किसी भी जानकारी के लिए सर्च इंजन में ही सर्च करते हैं और इसी वजह से SEO की डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ गया है. सर्च इंजन अल्गोरिथम पर काम करता है और यह 200 से भी ज्यादा रैंकिंग फैक्टर चेक करने के बाद किसी वेबसाइट को SERP में जगह देता है. SEO तीन तरीके से किया जाता है.

  • White Hat SEO
  • Grey Hat SEO
  • Black Hat SEO

White Hat SEO  बारें में कई पोस्ट पब्लिश किया जा चुका है. आज के पोस्ट में हम बात करने वाले हैं Black Hat SEO क्या होता है? इसमें काम किस तरह होता है. लेकिन, Black Hat SEO के बारें में बात करने से पहले White Hat SEO के बारें में कुछ जान लेते हैं.

White Hat SEO

इस SEO Technique में गूगल का गाइड लाइन फॉलो किया जाता है. वेबसाइट को हमेशा सर्च इंजन में रैंक करवाने के लिए हमेशा इसी तरीके का इस्तेमाल करना चाहिए। यह तरीका बहुत धीरे काम करता है लेकिन बहुत ही अच्छा तरीका है. इस तरीके से किसी वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए तीन महीने से छह महीना का समय लग सकता है. इसके लिए नीचे लिखा तरीका फॉलो किया जाता है.

  • Domain Trust
  • On Page Optimization
  • Off Page Optimization
  • Link Building
  • Directory Submission
  • Social Bookmarking
  • Page Rank
  • Keyword Analysis
  • Follow Google Algorithm
  • Related Content
  • High Quality Content

Grey Hat SEO

एसईओ का यह तरीका White Hat SEO और Black Hat SEO का मिक्सचर है. इसमें दोनों ही तरीके का इस्तेमाल किया जाता है. इसमें ज्यादा White Hat और Balck Hat का बहुत कम इस्तेमाल किया जाता है. जैसे –

  • Backlink Link Purchase
  • Duplicate Content
  • Keyword Stuffing
  • Cloaking

Black Hat SEO

इस SEO Technique में गूगल का गाइड लाइन फोल्लोई नहीं किया जाता है. इस तरीका से कम समय में वेबसाइट को रैंक करवाया जाता है. लेकिन, ऐसा करने से गूगल और अन्य सर्च इंजन वेबसाइट को इंडेक्स करना बंद कर देता है. कई बार तो डोमेन को ब्लैक लिस्ट कर दिया जाता है. कभी भी ब्लैक हैट एसईओ का सहारा नहीं लेना चाहिए। ब्लैक हैट एसईओ के लिए नीचे लिखा तरीका फॉलो किया जाता है.

  • Link Spam
  • Hidden Link
  • Cloaking
  • Keyword Stuffing
  • Hidden Anchor Text

Black Hat SEO में जिस तरीके का इस्तेमाल किया जाता है उसे सर्च इंजन कभी भी Approve नहीं करता है. जबकि White Hat SEO में इस्तेमाल किया जानेवाला तरीका सर्च इंजन सपोर्ट करता है. Black Hat का इस्तेमाल कर किसी भी वेबसाइट को रैंक करना तो आसान है लेकिन, इसे SERP में बनाये रखना बहुत मुश्किल भरा काम है. इन दोनों में समय का बहुत बड़ा खेल है यदि काम समय में किसी कंटेंट को रैंक करवाना है और वेबसाइट ज्यादा दिन तक नहीं चलना है तो Black Hat का इस्तेमाल कर सकते हैं.

White Hat Vs Black Hat SEO

कम समय में वेबसाइट को रैंक कराने के लिए Black Hat SEO ज्यादा इफेक्टिव है. यदि कम समय के लिए कोई वेबसाइट बनाया जा रहा तो यह सही है लेकिन, हमेशा के लिए SERP में बने रहना चाहते हो तो इसका इस्तेमाल बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। White Hat SEO का इस्तेमाल यूजर और सर्च इंजन दोनों के लिए किया जाता है जबकि Black Hat SEO का इस्तेमाल सिर्फ और सिर्फ सर्च इंजन के लिए किया जाता है.

Black Hat SEO कैसे किया जाता है?

इंटरनेट पर कई ऐसी वेबसाइट मौजूद है जो कुछ पैसे लेकर हजारों बैकलिंक देने का काम कर रही है. खासकर जब वैसी वेबसाइट जहाँ SEO Score चेक करते हैं वहां इस तरह का बैनर लगा होता है. High DA PA Backlink Click Here कुछ ब्लॉगर ऐसे वेबसाइट की मदद से ब्लॉग को रैंक तो करवा लेते हैं लेकिन, उनका ब्लॉग ज्यादा दिन तक सर्च इंजन में नहीं दीखता है. यह लिंक स्पैम और ऑटोमेटेड वेबसाइट से बनाया जाता है. जिसे सर्च इंजन बोट और स्पाइडर बहुत जल्दी पहचान लेता है. इसके बाद सर्च इंजन इस वेबसाइट को ब्लॉक कर देता है. यही वजह है कि गूगल सर्च इंजन हमेशा अपना रैंकिंग अल्गोरिथम बदलते रहता है.

Unrelated Meta Description

Meta Description सर्च को सही कंटेंट ढूंढने में मदद करता है. लेकिन, कंटेंट कुछ और है और अच्छी रैंकिंग के लिए Meta Description कुछ और लिख देते हैं. कई बार यहाँ ऐसे कीवर्ड का इस्तेमाल किया जाता है जो कंटेंट में है ही नहीं। मेटा डिस्क्रिप्शन की वजह से ब्लॉग पोस्ट रैंक तो कर जाता है लेकिन, जब गूगल बोट कंटेंट रीड करता है तो इसे स्पैम कर देता है.

Keyword Stuffing

जाने अनजाने में ब्लॉगर यह गलती अक्सर करता है. कई बार ऐसा देखा गया है ब्लॉग पोस्ट रैंक कराने के लिए बार बार कीवर्ड लिखता है. ब्लॉग पोस्ट पब्लिश करने से पहले इसे पढ़ो यदि ऐसा लगता है कीवर्ड बहुत ज्यादा बार और जहाँ इसका इस्तेमाल नहीं होना चाहिए वहाँ भी किया गया है तो इसे कम करना चाहिए। ऐसा कंटेंट पढ़ने में भी सही नहीं लगता है.

Keyword Proximity Prominence and Density in Hindi

Doorway and Gateway Post

ऐसा वेबपेज जो यूजर के लिए कम और सर्च इंजन के लिए ज्यादा तैयार किया जाता है वह Doorway and Gateway Post कहलाता है. यह एक तरह का फेक पेज होता है जिससे वेबपेज को सर्च इंजन में जल्दी इंडेक्स किया जाता है. इस तरह के पेज में आधी अधूरी जानकारी दी जाती है. इसमें पर्याप्त कंटेंट नहीं होता है और सिर्फ Keyword Stuffing किया जाता है.

Cloaking

यहाँ सर्च इंजन और यूजर के लिए दो अलग पेज बनाया जाता है. सर्च इंजन बोट इस पेज को क्रॉल करते समय आसानी से क्रॉल कर लेता है क्यूंकि इसे पूरी तरह सर्च इंजन के लिए ही तैयार किया जाता है. लेकिन, जब विजिटर इस पेज पर अत है तो इसे कुछ और जानकारी दिखाया जाता है.

Mirror Website

इसमें एक व्यक्ति कई वेबसाइट बनाता है लेकिन, सभी वेबसाइट पर एक ही तरह का कंटेंट पब्लिश किया जाता है. जब सभी वेबसाइट पर एक ही कंटेंट को अपलोड करोगे तो कोई एक ही रैंक करेगा अन्य सभी वेबसाइट डुप्लीकेट कंटेंट होने की वजह से स्पैम हो जाता है.

Page Hijack

इसमें डमी या बोगस कंटेंट बनाया जाता है जिसे क्रॉलर के सामने Original Content की तरह रखा जाता है. और यूजर को किसी अन्य वेबसाइट पर ट्रांसफर कर देता है. इससे यूजर एक्सपीरियंस बहुत गन्दा हो जाता है और पेज का बाउंस रेट बहुत ज्यादा बढ़ जाता है.

Hidden Link or Text

इसमें कंटेंट और लिंक को बैकग्राउंड कलर में लिखा जाता है. जिससे यूजर को यह कंटेंट नहीं दीखता है लेकिन सर्च इंजन के लिए यह काम करता है. इस तरह का कंटेंट लिखने का वजह विजिटर को छुपाना और सर्च इंजन बोट को अपनी तरफ आकर्षित करना होता है.

Unrelated Backlink

गूगल सर्च सम्मलेन में बताया जाता है बैकलिंक का SEO पर कोई फर्क नहीं पड़ता है. लेकिन, ऐसा नहीं है. बैकलिंक का फर्क तो पड़ता है लेकिन, यह तरीका अब बदल चुका है. यदि ऐसे रिलेटेड वेबसाइट से बैकलिंक है तो यह काम करता है अन्यथा यह स्पैम स्कोर बढ़ाता है.

White Hat and Black Hat SEO Result

चोर तभी तक बच सकता है जब तक उसे पकड़ा न जाये जिस दिन पकड़ा गया उसकी जिंदगी में कई तूफ़ान आ जाता है. यहाँ भी कुछ ऐसा ही है. Google Algorithm हमेशा बदलते रहता है और जब भी इसमें कोई बदलाव होगा Black Hat SEO पकड़ा जाता है. गूगल का कई अपडेट अभी तक आ चुका है और आगे भी आता रहेगा।

जब गूगल ने Panda Update किया तो कई लौ क्वालिटी साइट की रैंकिंग ख़राब हो गई. इसमें सिर्फ हाई क्वालिटी साइट को ही रैंक किया गया. इसी तरह penguin Update में Black Hat SEo Techniques को रोका गया. इस अपडेट में वेबमास्टर को स्पैम लिंक हटाने का सलाह दिया गया जिसने भी Bad Links को remove किया उसकी साइट फिर से रैंक कर गई लेकिन, जिसने Bad Links नहीं हटाया उसे सर्च इंजन इंडेक्स से बाहर कर दिया गया.

Negative SEO

यदि किसी परीक्षा में पहले नंबर पर आना है तो या खुद बहुत ज्यादा मेहनत करो या दूसरे की मेहनत को बर्बाद कर दो. कुछ ऐसा ही यहाँ भी होता है. कई बार ऐसा देखा गया है जिसमें जो वेबसाइट सर्च इंजन में रैंक करता है उसे किसी बेकार की वेबसाइट से लिंक कर उसका रैंक ख़राब किया जाता है. यह हमारे वाश में नहीं होता है. कोई भी हमे वेबसाइट के साथ ऐसा कर सकता है. इसके लिए समय समय पर वेबसाइट एनालिसिस करते रहे.

You May Also Read

सर्च इंजन कितने तरह का होता है? Search Engine Types in Hindi

Blogging का असलियत क्या है Case Study

LSI Keyword क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करें?

बाबा बने और करोड़ो का व्यापार करें Baba Business Model

Digital Marketing Course Structure By Ashutosh Choudhary

Conclusion Black Hat SEO

Black Hat SEO क्या है और ब्लैक एसईओ कैसे काम करता है और इसका फायदा नुकसान क्या है? इसके बारें में सभी जानकारी इस पोस्ट में दी गई है. गुरूजी टिप्स टीम की हमेशा से रहती है सही और सटीक जानकारी पाठकों तक पहुंचाया जाये। उम्मीद है White Hat SEO और Black Hat SEO क्या है और किस तरह काम करता है जरूर समझ आ गया होगा। यदि इस जानकारी से संबंधित आपका कोई सवाल है तो कमेंट में जरूर बताएं.

Subscribe for Quick Update

About the Author: Guruji Tips

Guruji Tips is a website to provide tips related to Blogging, SEO, Social Media, Business Idea, Marketing Tips, Make Money Online, Education, Interesting Facts, Top 10, Life Hacks, Marketing, Review, Health, Insurance, Loan and Internet-related Tips. यदि आप भी अपना Content इस Blog के माध्यम से publish करना चाहते हो तो कर सकते हो. इसके लिए Join Guruji Tips Page Open करें. आप अपना Experience हमारे साथ Share कर सकते हो. धन्यवाद !
loading...

Related Post

2 Comments

  1. Thankful to you for sharing such a pleasant post. Your post is unique. It is strong for every peruser. You may prop up on sharing such a charming post.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *